Loading...
Exampur

Connect Us

Examपुर Apps

exampur
exampur
CTET

CTET

Practice CTET, with online test series

CTET Related Content Tab

CTET Test Series
CTET

Total 15 Mock Tests

CTET
View → Free: Enroll →

सीटीईटी या केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा

Updated On : 17 Feb, 2022

सीटीईटी अधिसूचना

सीटीईटी  या केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा भारत में आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। यह शिक्षकों के रूप में नियुक्ति के लिए उम्मीदवारों की पात्रता निर्धारित करने के लिए आयोजित किया जाता है। सीटीईटी साल में दो बार होता है।   

सीटीईटी परीक्षा में दो प्रकार के पेपर शामिल हैं - पेपर 1 और पेपर 2 , पेपर 1 उन उम्मीदवारों द्वारा दिया जाता है, जो कक्षा 1-5 से पढ़ाने की योजना बना रहे हैं। जो उम्मीदवार कक्षा 5-8 से पढ़ाने की योजना बना रहे हैं, वे पेपर 2 के लिए उपस्थित होते हैं।

विशेष बिंदु :-

परीक्षा का नाम

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा

परीक्षा आयोजित करने वाली संस्था

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड

परीक्षा मोड

ऑफलाइन 

परीक्षा आवृत्ति

वर्ष में दो बार

सीटीईटी आवेदन

आवेदन कैसे करें ?

  • सीटीईटी की आधिकारिक वेबसाइट Click Here  पर जाएं।
  • फिर सीटीईटी आवेदन पत्र पर क्लिक करें। 
  • बिना किसी त्रुटि के दिए गए प्रारूप के अनुसार आवश्यक जानकारी भरें।
  • आवश्यक दस्तावेज़ अपलोड करें।
  • शुल्क का भुगतान करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें। 
  • भविष्य के लिए आवेदन पत्र का प्रारूप निकाल लें।

निर्धारित आवेदन शुल्क :

पेपर -1 

सामान्य/ अन्य पिछड़ा वर्ग - 1000/- 

अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति - 500/- 

दोनों पेपर 

सामान्य/ अन्य पिछड़ा वर्ग - 1200/- 

अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति/ दिव्यांग - 600/- 

परीक्षा शुल्क का भुगतान - डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग या ई चालान के माध्यम से करें।

सीटीईटी पात्रता मापदंड

यहाँ सीटीईटी  पात्रता मानदंड दिए गए हैं, जिनका प्रत्येक उम्मीदवार को पालन करना अनिवार्य है। कोई भी उम्मीदवार जो निर्धारित मानदंडों से मेल नहीं खाता है, उसे अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

अभ्यर्थी को कक्षा 1-5 के लिए शिक्षक बनने के लिए नीचे दिए गए मानदंडों में से एक को पूरा करना चाहिए- 

प्राथमिक चरण -

  • सीनियर सेकेंडरी (या इसके समकक्ष) कम से कम 50% अंकों के साथ पास हो और प्रारंभिक शिक्षा में 2-वर्षीय डिप्लोमा के अंतिम वर्ष में उत्तीर्ण या उपस्थित हो।

  • सीनियर सेकेंडरी कम से कम 45% अंकों के साथ उत्तीर्ण या अंतिम वर्ष में उपस्थित हो तथा प्रारंभिक शिक्षा में 2-वर्षीय डिप्लोमा हो।

  • वरिष्ठ माध्यमिक (या इसके समकक्ष) में  कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण या 4 वर्षीय प्रारंभिक शिक्षा स्नातक (B.EI.Ed) के अंतिम वर्ष में उपस्थित हो।

  • वरिष्ठ माध्यमिक में  कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण या 2 वर्षीय डिप्लोमा (विशेष शिक्षा ) के अंतिम वर्ष में हो।

  • कम से कम 50% अंकों के साथ स्नातक और शिक्षा स्नातक (बी.एड) हो। 

उम्मीदवारों को कक्षा 6-8 के लिए शिक्षक बनने के लिए नीचे दी गई न्यूनतम योग्यताओं में से एक को पूरा करना होगा -

  • प्रारंभिक शिक्षा के क्षेत्र में दो वर्षीय डिप्लोमा के साथ किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री होना अनिवार्य है या पिछले वर्ष में डी.एड पूरा किया हो।

  • स्नातक में 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण और बी.एड (प्रथम वर्ष) और 

  • एनसीटीई के नियमों के अनुसार कुल मिलाकर औसतन 45% अंकों के साथ स्नातक उत्तीर्ण और बी.एड (प्रथम वर्ष) कर रहे हों, या
    स्नातक में कुल मिलाकर न्यूनतम 50% अंक प्राप्त करना या विशेष शिक्षा (एक वर्ष) में बी.एड या
    10+2 में कुल मिलाकर न्यूनतम 50% अंक प्राप्त करना या बी.ए.एल.एड (या) करना या बीए/बीएससी बी.एड ।

आयु सीमा :-

सीटीईटी द्वारा जारी आधिकारिक अधिसूचना में कोई आयु-सीमा मानदंड नहीं है।

सीटीईटी परीक्षा पैटर्न

पेपर-I

विषय 

प्रश्नों की संख्या 

अंक 

समय अवधि 

बाल विकास और शिक्षाशास्त्र

30

30




2.5 घंटे 

भाषा I (अनिवार्य)

30 

30 

भाषा II (अनिवार्य)

30

30

गणित

30

30

पर्यावरण अध्ययन

30 

30 

कुल 

150

150

 पेपर -II 

विषय 

प्रश्नों की संख्या 

अंक 

समय अवधि 

बाल विकास और शिक्षाशास्त्र

30

30




2.5 घंटे 

भाषा I (अनिवार्य)

30 

30 

भाषा II (अनिवार्य)

30

30

गणितज्ञ और विज्ञान 

30+30

30

सामाजिक अध्ययन और सामाजिक विज्ञान

60 

30 

कुल 

150

150

सीटीईटी पाठ्यक्रम

पेपर I

बाल विकास और अध्यापन 

विकास की अवधारणा तथा अधिगम के साथ उसका संबंध

बालकों के विकास के सिंद्धात

आनुवांशिकता और पर्यावरण का प्रभाव 

सामाजिकीकरण प्रक्रियाएं : सामाजिक विश्व और बालक (शिक्षक, अभिभावक और मित्रगण)

पाइगेट, कोलबर्ग और वायगोस्की : निर्माण और विवेचित संदर्श 

बाल-केन्द्रित और प्रगामी शिक्षा की अवधारणाएं

बौद्धिकता के निर्माण का विवेचित संदर्श 

बहु-आयामी बौद्धिकता

भाषा और चिंतन 

समाज निर्माण के रूप में लिंग : लिंग भूमिकाएं, लिंग- पूर्वाग्रह और शैक्षणिक व्यवहार

शिक्षार्थियों के मध्य वैयक्तिक विभेद, भाषा, जाति, लिंग, समुदाय, धर्म आदि की विविधता पर आधारित विभेदों को समझना 

अधिगम के लिए मूल्यांकन और अधिगम का मूल्यांकन के बीच अंतर; विद्यालय आधारित मूल्यांकन, सतत एवं व्यापक मूल्यांकन : संदर्श और व्यवहार

समावेशी शिक्षा की अवधारणा तथा विशेष आवश्यकता वाले बालकों को समझना 

  • गैर-लाभप्राप्त और अवसर- वंचित शिक्षार्थियों सहित विभिन्न पृष्ठभूमियों से आए शिक्षार्थियों की  आवश्यकताओं को समझना

  • अधिगम संबंधी समस्याएं, कठनाई वाले बालकों आवश्यकताओं को समझना 

  •   शिक्षार्थियों की तैयारी के स्तर के मूल्यांकन के लिए (कक्षा में शिक्षण और विवेचित चिंतन के लिए शिक्षार्थी की उपलब्धि के लिए उपयुक्त प्रश्न तैयार करना।

अधिगम और अध्यापन 

  • बालक किस प्रकार सोचते और सीखते हैं; बालक विद्यालय प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में कैसे और क्यों असफल होते हैं।

  • अधिगम और अध्यापन की बुनियादी प्रक्रियाएं; बालकों की अधिगम कार्यनीतियां सामाजिक क्रियाकलाप के रूप में अधिगम के सामाजिक संदर्भ 

  • एक समस्या समाधानकर्ता और एक वैज्ञानिक अन्वेषक के रूप में बालक 

  • बालकों में अधिगम की वैकल्पिक संकल्पना अधिगम प्रक्रिया में महत्त्वपूर्ण चरणों के रूप में बालक की त्रुटियों को समझना 

  • बोध और संवेदनाएं 

  • प्रेरणा और अधिगम  

पेपर II 

बाल विकास और अध्यापन 

  • विकास की अवस्था तथा अधिगम से उसका संबंध 

  • बालक के विकास के सिंद्धात 

  • आनुवांशिकता और पर्यावरण का प्रभाव 

  • सामाजिकीकरण दबाव : सामाजिक विश्व और बालक (शिक्षक, अभिभावक और मित्रगण)

  • पियाजे, कोलबर्ग,वायगोस्की : निर्माण और विवेचित संदर्श 

  • बाल-केन्द्रित और प्रगामी शिक्षा की अवधारणाएं

  • बौद्धिकता के निर्माण का विवेचित संदर्श 

  • बहु-आयामी बौद्धिकता

  • भाषा और चिंतन 

  • समाज निर्माण के रूप में लिंग : लिंग भूमिकाएं, लिंग- पूर्वाग्रह और शैक्षणिक व्यवहार

  • शिक्षार्थियों के मध्य वैयक्तिक विभेद, भाषा, जाति, लिंग, समुदाय, धर्म आदि की विविधता पर आधारित विभेदों को समझना 

  • अधिगम के लिए मूल्यांकन और अधिगम का मूल्यांकन के बीच अंतर; विद्यालय आधारित मूल्यांकन, सतत एवं व्यापक मूल्यांकन 

समावेशी शिक्षा की अवधारणा तथा विशेष आवश्यकता वाले बालकों को समझना 

  • गैर-लाभप्राप्त और अवसर- वंचित शिक्षार्थियों सहित विभिन्न पृष्ठभूमियों से आए शिक्षार्थियों की  आवश्यकताओं को समझना

  • अधिगम संबंधी समस्याएं, कठनाई वाले बालकों आवश्यकताओं को समझना 

  •   शिक्षार्थियों की तैयारी के स्तर के मूल्यांकन के लिए (कक्षा में शिक्षण और विवेचित चिंतन के लिए शिक्षार्थी की उपलब्धि के लिए उपयुक्त प्रश्न तैयार करना।

अधिगम और अध्यापन 

  • बालक किस प्रकार सोचते और सीखते हैं; बालक विद्यालय प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में कैसे और क्यों असफल होते हैं।

  • अधिगम और अध्यापन की बुनियादी प्रक्रियाएं; बालकों की अधिगम कार्यनीतियां सामाजिक क्रियाकलाप के रूप में अधिगम के सामाजिक संदर्भ 

  • एक समस्या समाधानकर्ता और एक वैज्ञानिक अन्वेषक के रूप में बालक 

  • बालकों में अधिगम की वैकल्पिक संकल्पना अधिगम प्रक्रिया में महत्त्वपूर्ण चरणों के रूप में बालक की त्रुटियों को समझना 

  • बोध  और संवेदनाएं 

  • प्रेरणा और अधिगम  

  • अधिगम में योगदान देने वाले कर्क - निजी एवं पर्यावरणीय 

भाषा I

भाषा बोधागम्यता

दो अनुच्छेद को पढ़ना  - एक गद्य अथवा नाटक और एक कविता बोधागम्यता, निष्कर्ष, व्याकरण और मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न होंगे (गद्य अनुच्छेद साहित्यिक, वैज्ञानिक, वर्णनात्मक अथवा तर्कमूल्क हो सकता है)

भाषा विकास का अध्यापन 

अधिगम अर्जन 

भाषा अध्यापन के सिंद्धात

सुनने और बोलने की भूमिका भाषा का कार्य तथा बालक इसे किस प्रकार एक उपकण के रूप में प्रयोग करते हैं 

मौखिक और लिखित रूप में विचारों के संप्रेषण के लिए किसी भाषा के अधिगम में व्याकरण की भूमिका पर विवेचित संदर्श 

एक भिन्न कक्षा में भाषा पढ़ाने की चुनौतियां भाषा की कठनाइयां, त्रुटियां और विकार 

भाषा कौशल

भाषा बोधागम्यता और प्रवीणता का मूल्यांकन करना बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना 

अध्यापन - अधिगम सामग्रियां पाठ्यपुस्तक, मल्टी मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषायी संसाधन 

उपचारात्मक अध्यापन  

भाषा - II

बोधागम्यता

 दो गद्यांश (तर्क मूल्क अथवा साहित्यिक अथवा  वर्णनात्मक अथवा वैज्ञानिक) जिनमें बोधागम्यता, निष्कर्ष, व्याकरण और मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न होंगे

भाषा विकास का अध्यापन 

अधिगम अर्जन 

भाषा अध्यापन के सिंद्धात

सुनने और बोलने की भूमिका भाषा का कार्य तथा बालक इसे किस प्रकार एक उपकण के रूप में प्रयोग करते हैं 

मौखिक और लिखित रूप में विचारों के संप्रेषण के लिए किसी भाषा के अधिगम में व्याकरण की भूमिका पर विवेचित संदर्श 

एक भिन्न कक्षा में भाषा पढ़ाने की चुनौतियां भाषा की कठनाइयां, त्रुटियां और विकार 

भाषा कौशल

भाषा बोधागम्यता और प्रवीणता का मूल्यांकन करना बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना 

अध्यापन - अधिगम सामग्रियां पाठ्यपुस्तक, मल्टी मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषायी संसाधन 

उपचारात्मक अध्यापन

गणित एवं विज्ञान 

गणित 

अंक प्रणाली 

बीजगणित 

ज्यामिति 

क्षेत्रमिति 

आंकड़ा प्रबंधन  

विज्ञान 

भोजन 

भोजन के स्त्रोत 

भोजन के अवयव

भोजन को स्वच्छत

सामग्री 

दैनिक प्रयोग की सामग्री 

जीव-जंतुओं की दुनिया 

सचल वस्तुएं, लोग और विचार 

चीजें जैसे कार्य करती हैं 

विद्युत करंट और सर्किट 

चुबंक 

प्राकृतिक पद्धति 

प्राकृतिक संसाधन 

 अध्यापन संबंधी मुद्दे 

  • विज्ञान की प्रकृति और संरचना 

  • प्राकृतिक विज्ञान/ लक्ष्य और उद्देश्य 

  • विज्ञान को समझना और उसकी सराहना करना 

  • दृष्टिकोण/ एकीकृत दृष्टिकोण 

  • प्रेक्षण/ प्रयोग/ अन्वेषण (विज्ञान की पद्धति)

  • अभिनवता 

  • पाठ्यचर्या सामग्री / सहायता - सामग्री

  • मूल्यांकन - संज्ञात्मक/ मनोप्रेरक/ प्रभावन

  • समस्याएं

  • उपचारात्मक शिक्षण   

सामाजिक अध्ययन/ सामाजिक विज्ञान 

इतिहास 

  • कब, कहाँ  और कैसे 

  • प्रारंभिक समाज

  • प्रारंभिक राज्य 

  • प्रथम साम्राज्य 

  • सुदूरवर्ती भूभागों के साथ संपर्क 

  • राजनैतिक गतिविधियां 

  • दिल्ली के सुलतान

  • वास्तुकला 

  • सामाजिक परिवर्तन 

  • क्षेत्रीय संस्कृतीयां 

  • कंपनी शासन की स्थापना

  • ग्रामीण जीवे और समाज 

  • उपनिवेशवाद और जनजातिय समाज 

  • 1857-58 बका विद्रोह 

  • महिलाएं और सुधार 

  • जाति व्यवस्था को चुनौती 

  • राष्ट्रवादी आंदोलन 

  • स्वंतत्रता के पश्चात भारत 

भूगोल 

  • एक सामाजिक अध्ययन तथा एक विज्ञान के रूप में भूगोल 

  • सौरमंडल 

  • भौतिक भूगोल 

  • अपनी समग्रता में पर्यावरण : प्राकृतिक और मानव पर्यावरण

  • मानव पर्यावरण - परिवहन और संप्रेषण 

  • संसाधन : प्रकार - प्राकृतिक एवं मानवीय 

  • कृषि 

सामाजिक और रानजीतिक 

  • विविधता 

  • सरकार 

  • स्थानीय सरकार 

  • आजीविका हासिल करना 

  • लोकतंत्र 

  • राज्य सरकार 

  • मिडिया को समझना 

  • लिंग-भेद समाप्ति 

  • संविधान 

  • संसदीय सरकार 

  • न्यायपालिका 

  • सामाजिक न्याय और सीमांत लोग 

ध्यापन संबंधी मुद्दे 

  • सामजिक विज्ञान/ सामाजिक अध्ययन की अवधारणा और पद्धति 

  • कक्षा की प्रक्रियाएं, क्रियाकलाप और व्याख्यान

  • विवेचित चिंतन का विकास करना 

  • सामाजिक विज्ञान/ सामाजिक अध्ययन पढ़ाने की समस्याएँ 

  • स्त्रोत - प्राथमिक और माध्यमिक 

Please rate the article so that we can improve the quality for you -


Practice Quiz

CTET

Go To Quizzes
serablock login_ch-testwale