ओमीक्रॉन को लेकर आयी खबरों से क्या आरआरबी ग्रुप डी के छात्रों को कुछ राहत मिलेगी ?

Updated On : 19 Jan, 2022

ओमीक्रॉन को लेकर आयी खबरों से क्या आरआरबी ग्रुप डी के छात्रों को कुछ राहत मिलेगी ?:

जैसा कि आप जानते हैं कि आरआरबी वेबसाइट https://www.rrbcdg.gov.in पर आरआरबी ग्रुप डी की परीक्षा 14 फरवरी से 18 फरवरी 2022 में आयोजित कराने की अधिसूचना जारी किया गया था। लेकिन ओमीक्रॉन के बढ़ते आंकड़ों से छात्रों की इस परीक्षा को लेकर चिंता काफी बढ़ गयी थीं । येलो अलर्ट जारी करने के बाद ऐसी भी आशंका जतायी जा रही थीं कि संभव है, ये परीक्षा स्थगित करनी पड़े। लेकिन पिछले कुछ दिनों से ओमीक्रॉन को लेकर आयी खबरों से क्या आरआरबी ग्रुप डी के छात्रों को कुछ राहत मिलेगी ? 

रिसर्चरों की मानें तो अगर ओमीक्रॉन वैरियंट के मौजूदा प्रसार की तरह ही हालात बने रहते हैं तो आगामी वर्षों में सार्स-कोव2 वायरस फ्लू और कॉमन कोल्ड की तरह एनडेमिक डिसीज बनकर रह जाएगा। एक्सपर्ट का कहना है कि जब वायरस जयादा फैलता है लेकिन गंभीरता कम देखी जाती है तो ऐसा कहा जा सकता है कि यह महामारी (एपिडेमिक) से एनडेमिक स्टेज की तरफ बढ़ रहा है।सार्स-कोव2 के ओमीक्रॉन वैरिएंट के केस में स्पष्ट संकेत मिल रहें हैं कि यह वायरस पहले के डेल्टा वैरियंट से ज्यादा संक्रामक है लेकिन इनकी चपेट में आने वालों को ज्यादा खतरा नहीं है। 

हालांकि इन राहत भरे संकेतों के बाद भी लोगों को अपने स्तर पर अलर्ट रहने की  जरूरत है। इसका मतलब यह कतई नहीं कि हम लापरवाह हो जाएं क्योंकि व्यक्ति के पॉजिटिव होने के बाद की स्थिति कई कारकों पर निर्भर करती है। RRB Group D Test Series

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमीक्रॉन तेजी से फैल रहा है, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने उनके हवाले से लिखा है, 'ओमीक्रॉन तेजी से फैलता है लेकिन बहुत हल्के लक्षण हैं।  वायरस कमजोर हो गया है यह वायरल बुखार की तरह है लेकिन सावधानी जरूरी हैं। हालांकि , घबराने की जरूरत नहीं है।' एनएनआई ने सीएम योगी का वीडियो भी जारी किया है, जिसमें वह कह रहें हैं, 'हम लोगों ने मार्च-अप्रैल 2021 डेल्टा वैरियंट के वक्त देखा था कि जो लोग इससे संक्रमित होते हैं, उन्हें ठीक होने में 15 से 25 दिनों का समय लगता था। इसके साथ ही उसके बाद पोस्ट कोविड दिक्क्तें भी बहुत ज्यादा थीं, लेकिन ओमीक्रॉन के मामले में अब तक ऐसा नहीं है। 

बता दें, उत्तर प्रदेश में ओमीक्रॉन वैरियंट के सामने आए मामलों में से स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 50 प्रतिशत मरीज ठीक भी हुए हैं। कोरोना मामलों की बात करें तो covid - 19 के 552 नए मामले दर्ज किये गए हैं, इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 17 लाख पहुंच गयी है। 

कुल 22,916 लोगों की यूपी में कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है। 

एलएनजीपी हॉस्पिटल के डारेक्टर डॉ. सुरेश कुमार ने बताया कि केस अब हर रोज बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि ये कन्फर्म है कि दोनों डोज लेने के बाद भी ओमीक्रॉन हो सकता है, पर वैक्सीन लेने वाले जल्दी ठीक हो रहे हैं। उन्होंने लोगों से भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचने की अपील की है डॉ. सुरेश कुमार दिल्ली सरकार की कोविड टास्क फोर्स के सदस्य भी हैं, दिल्ली में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी रेट 3 % पहुंचने की संभावना है।

साऊथ अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन के भारत में भी कई मामले सामने आए हैं। अब देश में ओमीक्रॉन वैरिएंट के मामले बढ़कर लगभग1,270 हो गए हैं। वहीं लगभग 374 मरीज ठीक भी हुए हैं। बताया जा रहा हैं कि अब तक देश के 23 राज्यों में ओमीक्रॉन वैरियंट फैल चुका हैं।  कोरोना के इस वैरियंट के सबसे ज्यादा मरीज महाराष्ट्र में मिले हैं। महाराष्ट्र में ओमीक्रॉन वैरियंट के कुल मरीजों की संख्या लगभग 450 हो गयी हैं। वहीं दूसरे नंबर पर दिल्ली है,जहाँ ओमीक्रॉन केलगभग  320 मामले मिले हैं। 

संभव है कि इन खबरों को सुनकर आरआरबी ग्रुप डी के छात्रों को काफी हद तक राहत मिली होगी साथ ही पूरी संभावना है कि आरआरबी ग्रुप डी की परीक्षा निर्धारित तिथि अनुसार ओमीक्रॉन में दिशानिर्देशों को मद्दे नज़र रखते हुए पूर्ण करवायी जा सकती है।  

आरआरबी ग्रुप डी के छात्रों के लिए testwal.com पर कुल 78 मॉक टेस्ट लाइव हैं। छात्र अपनी तैयारी को और बेहतर बनाने के लिए और अपना स्तर जानने के लिए इन मॉक टेस्ट को दे सकते हैं।

Please rate the article so that we can improve the quality for you -