Current Affairs search results for tag: books-and-authors
By admin: Sept. 23, 2022

1. प्रधानमंत्री के चुनिंदा भाषणों का संग्रह 'सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास' का विमोचन

Tags: Books and Authors


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनिंदा भाषणों का एक संग्रह 23 सितंबर को नई दिल्ली के आकाशवाणी भवन में जारी किया गया।


महत्वपूर्ण तथ्य -

  • 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्पीक्स' शीर्षक वाली किताब में प्रधानमंत्री के नए भारत के सपने को दर्शाया गया है।

  • पुस्तक का विमोचन पूर्व उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा किया गया।

अतिरिक्त जानकारी -

पुस्तक के बारे में :

  • पुस्तक मई 2019 से मई 2020 तक प्रधान मंत्री द्वारा दिए गए 86 भाषणों का संग्रह है।

  • भाषणों को दस विषयगत क्षेत्रों में विभाजित किया गया है।

  • इसके विषयगत क्षेत्र हैं - आत्मानिर्भर भारत-अर्थव्यवस्था, पीपल-फर्स्ट गवर्नेंस, फाइट अगेंस्ट COVID-19, इमर्जिंग इंडिया-फॉरेन अफेयर्स, जय किसान, टेक इंडिया-न्यू इंडिया, ग्रीन इंडिया-रेसिलिएंट इंडिया-क्लीन इंडिया, फिट इंडिया-एफिशिएंट इंडिया, इटरनल इंडिया - मॉडर्न इंडिया, सांस्कृतिक विरासत और 'मन की बात' पर केंद्रित है। 

  • पुस्तक हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में उपलब्ध होगी।

  • यह मोदी सरकार के विचारों, दृढ़ संकल्प और निश्चितता को दर्शाता है।

  • पुस्तक नए भारत के प्रधान मंत्री के दृष्टिकोण और भारत को दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए उनके द्वारा दिखाए गए नेतृत्व को चित्रित करती है।

By admin: Sept. 22, 2022

2. 75 भारतीय महिलाओं के सम्मान में 'शी इज़-वुमन इन स्टीम' पुस्तक का विमोचन किया गया

Tags: Books and Authors


स्टीम (विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, कला और गणित के क्षेत्र) में 75 भारतीय महिलाओं को सम्मानित करके भारत की स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष को मनाने के लिए, एल्सामेरी डी सिल्वा और सुप्रीत के. सिंह द्वारा लिखित एक पुस्तक, 'शी इज़-वुमन इन स्टीम' 21 सितंबर, 2022 को नई दिल्ली में अनावरण किया गया था।


महत्वपूर्ण तथ्य - 

  • इस पुस्तक का अनावरण भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. अजय सूद और ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने किया।
  • पुस्तक, रेड डॉट फाउंडेशन, ब्रिटिश उच्चायोग और फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) एफएलओ के साथ साझेदारी में भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के कार्यालय की एक सहयोगी परियोजना है।
  • पुस्तक श्रृंखला का उद्देश्य युवाओं के लिए अधिक महिला रोल मॉडल प्रदर्शित करना, महिलाओं के नेतृत्व को स्पष्ट करना और सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में रुचि पैदा करना है।


By admin: Sept. 13, 2022

3. निर्मला सीतारमण ने एन के सिंह की पुस्तक “रीकैलिब्रेट: चेंजिंग पैराडाइम” का विमोचन किया

Tags: Books and Authors

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 13 सितंबर 2022 को नई दिल्ली में 15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एन के सिंह और पूर्व कृषि सचिव पी के मिश्रा द्वारा लिखित पुस्तक "रीकैलिब्रेट: चेंजिंग पैराडाइम" का विमोचन किया।

पुस्तक का प्रकाशन रूपा एंड कंपनी ने किया है।


महत्वपूर्ण तथ्य - 

एनके सिंह द्वारा लिखित अन्य पुस्तकें :

  • द न्यू बिहार : रीकिन्डलिंग  गवर्नेंस एंड डेवलपमेंट
  • नॉट बाइ रीज़न अलोन
  • द पॉलिटिक्स ऑफ चेंज: ए रिंगसाइड व्यू
  • पोर्ट्रेट्स ऑफ पॉवर

एनके सिंह के बारे में :

नंद किशोर सिंह (एनके सिंह) एक पूर्व भारतीय प्रशासनिक अधिकारी हैं।

वे 15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष थे।

By admin: Sept. 9, 2022

4. उपराष्ट्रपति धनखड़ ने दारा शिकोह के पुस्तक का अरबी संस्करण का विमोचन किया

Tags: Books and Authors Person in news


उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने 9 सितंबर 2022 को नई दिल्ली में दारा शिकोह के पुस्तक "मजमा उल-बहरीन" के अरबी संस्करण का विमोचन किया।


महत्वपूर्ण तथ्य - 

  • अमर हसन द्वारा इस पुस्तक का अरबी में अनुवाद किया गया है, और भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) द्वारा प्रकाशित किया गया है।
  • मजमा उल-बहरीन (दो महासागरों का संगम), शिकोह द्वारा फारसी में 1654-55 में लिखा गया था।
  • पुस्तक में उन्होंने सूफी इस्लाम और वेदांत दर्शन की तुलना की और निष्कर्ष निकाला कि दोनों के बीच अंतर की तुलना में अधिक समानताएं थीं।
  • पुस्तक का हिंदी में अनुवाद 'समुद्र संगम ग्रंथके रूप में किया गया था।
  • दारा शिकोह मुगल सम्राट शाहजहाँ के सबसे बड़े पुत्र थे और उत्तराधिकार के संघर्ष में औरंगजेब से हार गए थे। बाद में उन्हें औरंगजेब ने 1659 में मार डाला था।

By admin: Sept. 1, 2022

5. एक नई पुस्तक "इंडियन बैंकिंग इन रेट्रोस्पेक्ट - 75 इयर्स ऑफ इंडिपेंडेंस" का विमोचन किया गया

Tags: Books and Authors


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के आर्थिक और नीति अनुसंधान विभाग (DEPR) के निदेशक, डॉ आशुतोष राराविकर के द्वारा "इंडियन बैंकिंग इन रेट्रोस्पेक्ट - 75 इयर्स ऑफ़ इंडिपेंडेंस" नामक एक नई पुस्तक लिखी गयी है।

महत्वपूर्ण तथ्य -

  • असवद प्रकाशन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा इस पुस्तक का प्रकाशन किया गया है।

  • भारत के प्रधान मंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष बिबेक देबरॉय ने पुस्तक की प्रस्तावना लिखी है।

पुस्तक का सार :

  • पुस्तक में 1991 के दौरान एलपीजी (उदारीकरण निजीकरण और वैश्वीकरण) सुधार, 1969 में पहली बार बैंकों का राष्ट्रीयकरण, 1991 के बाद नए निजी क्षेत्र के बैंकों का लाइसेंस, भुगतान बैंकों की स्थापना, लघु वित्त बैंक जैसे विभिन्न आर्थिक विकास पर प्रकाश डाला गया है।

  • इसमें वित्तीय समावेशन, प्रधानमंत्री जन धन योजना का भारत में बैंकिंग प्रणाली पर प्रभाव के बारे में भी उल्लेख किया गया है I



By admin: May 27, 2022

6. प्रसिद्ध लेखिका गीतांजलि श्री को प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया

Tags: Books and Authors Awards

जानी-मानी लेखिका गीतांजलि श्री को उनके उपन्यास 'Tomb of Sand' के लिए उन्हें प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय बुकर प्राइज 2022 से सम्मानित किया गया है।

  • गीतांजलि श्री अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाली पहली भारतीय लेखिका बन गई हैं।

  • 'टॉम्ब ऑफ सैंड' प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाली किसी भी भारतीय भाषा की पहली किताब बन गई है।

  • यह पुस्तक मूल रूप से हिंदी भाषा में 'रेत समाधि' के नाम से प्रकाशित हुई थी। जिसका अंग्रेजी अनुवाद 'टॉम्ब ऑफ सैंड' अमेरिकी अनुवादक डेजी रॉकवेल द्वारा किया गया I  

  • "टॉम्ब ऑफ सैंड" पुस्तक का प्रकाशन ब्रिटेन में टिल्टेड एक्सिस प्रेस द्वारा किया जाता है।

  • कौन हैं गीतांजलि श्री

  • गीतांजलि श्री मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मैनपुरी की रहने वाली हैं। गीतांजलि श्री ने तीन उपन्यास और कई कथा संग्रह लिखी हैं।

  • इनके प्रमुख अन्य उपन्यासों में  में पुरोहित ,हमारा शहर उस बरस, खाली जगह, अनुगूंज आदि है I 

  • उपन्यास 'Tomb of Sand' का सार 

  • इस उपन्यास में 80 वर्षीय बुजुर्ग विधवा की कहानी है, जो 1947 में भारत और पाकिस्तान के विभाजन के बाद अपने पति को खो देती है।

  • अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के बारे में 

  • अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार प्रतिवर्ष यूके या आयरलैंड में प्रकाशित उपन्यास के अनुवाद के लिए दिया जाता है।

  • बुकर पुरस्कार की स्थापना सन् 1969 में इंगलैंड की बुकर मैकोनल कंपनी द्वारा की गई थी। 

  • इसके तहत प्राप्त 50 हज़ार पाउंड यानी 44 लाख रुपए की धनराशि को अनुवादक एवं लेखक के मध्य विभाजित किया जाता है।

  • फ्रांस के उपन्यासकार डेविड डिओप को ‘अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2021’ से सम्मानित किया गया था।

By admin: March 14, 2022

7. क्रिकेटर जीआर विश्वनाथ की आत्मकथा का विमोचन

Tags: Books and Authors


पूर्व क्रिकेटर और बल्लेबाज जी आर विश्वनाथ की आत्मकथा "रिस्ट एश्योर्ड" का विमोचन चिन्नास्वामी स्टेडियम, बेंगलुरु में किया गया।

पुस्तक के सह-लेखक वरिष्ठ पत्रकार आर. कौशिक हैं।

गुंडप्पा विश्वनाथ ने 1969 से 1983 तक भारत के लिए टेस्ट मैच खेले। उन्होंने भारत के लिए 91 टेस्ट मैच खेले।

By admin: Feb. 10, 2022

8. गोल

Tags: Books and Authors

यह भारतीय फुटबॉलर सुभाष भौमिक की आत्मकथा है जो 1970 में बैंकॉक एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थे।

लेखक :

इसे सुभाष भौमिक और पत्रकार सुप्रियो मुखोपाध्याय ने बंगाली भाषा में लिखा है।

By admin: Jan. 24, 2022

9. पुस्तकें और लेखक

Tags: Books and Authors


1. पुस्तक

द आर्ट ऑफ बिटफुलनेस: कीपिंग काम इन  डिजिटल वर्ल्ड

लेखक: नंदन नीलेकनी और तनुज भोजवानी |

2. पुस्तक

ममता: बिऑन्ड 2021

लेखक: जयंत घोषाल

3. पुस्तक

द न्यू बीजेपी

लेखक: नलिन मेहता

By admin: Jan. 16, 2022

10. रचनायें और लेखक

Tags: Books and Authors

1. किताब

इनडोमिटेबल -ए वर्किंग वूमनस नोट्स ऑन लाइफ, वर्क,एण्ड लिडरशिप' ।

लेखक:

श्रीमती अरुंधति भट्टाचार्य,  जो भारतीय स्टेट बैंक की पहली महिला अध्यक्ष थीं .

2. किताब

'इंडियाज अनडिक्लेयर्ड एमरजेंसी : कॉन्स्टीट्यूशन एण्ड द पॉलिटिक्स ऑफ रेजिसटेंस' 

लेखक- अरविंद नारायण

3. किताब

'द राइज ऑफ बीजेपी: द मेकिंग ऑफ द वर्ल्डस लारजेस्ट पॉलिटिकल पार्टी '

लेखक

अर्थशास्त्री इला पटनायक के साथ केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव।

Date Wise Search